रक्षा बन्धनके शुभकामना (थारु भाषाके कविता)

  • Post category:कविता

रक्षा बन्धन के शुभकामना

सब से सुन्दर जग मे, भाइबहिन के प्यार
सावन सुक्ल पक्ष मे, आइल इ तेवहार
रंगी बिरंगी राखी हाथ मे, बान्हल जाइ
प्यारी बहिन अइहे माइका, लेके इ मिठाई

केतना प्यार से रचले बा एकरा के रचइता
रक्षा करिह जीवनभर ,इहे बाटे मान्यता
देखत -देखत रात बितल, बित गइल दिन
हमरे भैया रक्षाबन्धन मे साडी लैहे किन

ना माङ्गे सोना चादी ना हिरा मोतीया
हमरा के चाहिँ बस, तोहर पिरितिया
जिन्दगी भर दुवा करे,माङ्गे मनभावना
हमरा ओर से सब जनके रक्षाबन्धनके शुभकामना

लेखक – रामदेव चौधरी
ठेगाना – कोल्हबी-२ बगेवा ( बारा) नेपाल

Leave a Reply